Tuesday, April 24, 2012

जागो ग्राहक जागो


                               रिलायंस के खिलाफ हल्ला बोल

     रिलायंस इस देश के उन निजी कारपोरेट कम्पनियों में से है जिसका सरकार पर सबसे अधिक दबदबा रहता है। कपिल सिब्बल द्वारा रिलायंस पर लगे जुर्माने को वसूलने में दिखाई जाने वाली दरियादिली हो या केजी बेसिन मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा सरकार को लगाई गई फटकार या फिर कंपनी का पीआर करने वाली एजेंसी वैष्णवी कारपोरेशन द्वारा मंत्रियों और पत्रकारों से की गई बातचीत के टेप का खुलासा, रिलायंस की करतूत किसी से छिपी हुई नहीं है। जिस देश में सत्तर फीसदी लोगों के पास खाने के लिये नहीं है उस देश में अपनी पत्नी को जन्मदिन पर हवाई जहाज उपहार में देने वाले मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस मोबाइल के बारे में कुछ प्रमाणिक जानकारियां काफी दिलचस्प हैं, जो यह साबित करती हैं कि आम लोग आज किस तरह बेबस और लाचार स्थिति में आ चुका है। 
      आज से करीब एक साल पहले रिलायंस के मुंबई स्थित कारपोरेट आफिस से मुझे फोन आया था कि मेरे नंबर पर कोई भी सुविधा मेरी इजाजत के बिना शुरू नहीं की जायेगी। जाहिर है ऐसा अचानक नहीं हुआ था। इसके पीछे का पूरा घटनाक्रम आप इस लिंक पर जान सकते हैं।
     आज सुबह करीब नौ बजे मेरे रिलायंस मोबाइल पर एसएमएस आया "Dear customer, Your prepaid account balance has reached minimum level of Rs3.080. Please recharge your account today to enjoy uninterrupted service." रात ही दस का रिचार्ज करवाया और छह रूप्ये कुछ पैसे थे। रात से अब तक न कहीं काल किया और न एसएमएस। कस्टमर केयर को 198 पर काल किया। किसी रवि से बात हुई। कम से कम उसने इतना कबूल लिया कि पैसा काटा गया है। डिटेल मांगने पर वह इस पर जोर देता रहा कि सर्विस डिएक्टिव कर दी जा रही है और मैं उससे बात कर ही रहा था कि एक मैसेज आया ’Dear Subscriber, Your VCHAT Service has been successfully Deactivated. For activation Dial 56300222(Tollfree)”  पूछताछ में पता चला कि मेरे नम्बर पर दो सेवायें एक्टिवेट हैं पहला लाइव एस्ट्रो सर्विस जो कि 21 अप्रैल को चालू हुई है और दूसरा 24 अप्रैल को चिटचेट सर्विस। डायरी पलटा तो पता चला कि पिछला रिचार्ज मैंने 21 अप्रैल को करवाया था। इसका मतलब ये कि रिचार्ज कराते ही मेरे नंबर पर सेवायें चालू हो गईं!
     इस बीच रवि से बातें गरम आवाज में होने लगी। इसका कारण ये था कि मैं उससे अपनी शिकायत का नंबर मांग रहा था और वो बार बार कह रहा था कि आपकी शिकायत का समाधान हो चुका है, हमारे पास शिकायत दर्ज करने की सुविधा नहीं है। मैं पूरी तरह चिढ चुका था। आखिरकार कंज्यूमर फारम जाने की धमकी देने के बाद उसने आत्मसमर्पण कर दिया और मुझे मेरा कम्प्लेन्ट नम्बर 2752440245 मिल गया। इसके बाद जब मैंने उससे नाडल आफिसर का मेल आईडी मांगा तो उसने यह कहकर फोन काट दिया कि    "आप टाइम पास कर रहे हैं, रिलायंस में काल करने के लिये धन्यवाद‘"! फोन कटने के करीब दो मिनट के अंदर मेरे नंबर 9555204147 पर 26 मैसेज रिलायंस की तरफ से आये इनमें से किसी मैसेज का मतलब समझना मेरे लिये मुश्किल था। उदाहरण के तौर पर ’Caller Tune details requested by you: Movie: Collaborations 2 Song: Tu Hi Tu Tu Hi Tu” vkSj “732626 Reliance” blh rjg ds dbZ eSlst vk;sA 
     अगला फोन मैंने 1800114000 पर कंज्यूमर हेल्पलाइन को किया। शालिनी नामक महिला से मेरी बात हुई, जिन्हें मैने आपबीती सुनाकर सलाह मांगी। उन्होंने औपचारिकतायें पूरी करने के बाद मुझे रिलायंस के नाडल आफिसर का मेल आई डी दे दिया जो Rcomnodalofficer.Delhi@relianceada.com  है। बिना मांगे ही मुझे वहां से मेरा कम्प्लेन्ट नम्बर मिल गया जो 371270 है। 
       अगर आपके पास रिलायंस कस्टमर केयर से बात करने के लिये कतार में रहने के लिये बीस मिनट और परेशानी में होते हुये भी रवि जैसे स्टाफ की झिड़की सुनने की सहनशक्ति है और साथ में इतना टाइम है कि कंज्यूमर हेल्पलाइन पर अपनी शिकायत दर्ज कराकर समाधान की प्रतिक्षा में बैठे रहें या फिर इतना पैसा है कि कोई आपके मोबाइल से आपका बेलेंस चोरी करते रहे और आपको कोई फर्क न पड़े तो ये आर्टिकल आपके लिये नहीं है।

No comments:

Post a Comment