Thursday, March 15, 2012

फूले


विद्या बिन मति गई
मति बिन नीति गई
नीति बिन गति गई
गति बिन धन गया
धन बिन शूद्र पतित
हुये, इतना घोर अनर्थ
मात्र अविद्या के कारण ही हुआ

                         महात्मा ज्योतिबा फूले


No comments:

Post a Comment