Thursday, February 17, 2011

डेली दस रूपया

रिलायंस के खिलाफ हल्ला बो
      
            रिलायंस एवं अन्य निजी मोबाइल कम्पनियों के ग्राहकों से अक्सर ये शिकायतें सुनने को मिलती है कि उनकी जानकारी एवं अनुमति के बिना उनके नम्बर पर कोई सेवा शुरु कर दी गई है जिसका भुगतान ना चाहते हुए भी उन्हें करना पड रहा है। मेरा रूममेट एक निजी कम्पनी में कम्प्यूटर ऑपरेटर है। 12 फरवरी को ऑफिस से खिन्न मन से वह आया और खाना बनाने की बजाय पूरे  तैश में रिलायंस कस्टमर केयर को बुरा भला कहने लगा। लगभग दो घंटे तक वह काफी तनाव में रहा और आखिर में बिना खाए सो गया। पूछने पर गुस्से में बताया ‘‘ स्साला डेली दस रूपया काट लेता है‘‘!  ये रोज की कहानी हो गई थी उसकी.
मेरा रूममेट देशभर  के उन लाखों पीड़ित  और प्रताड़ित हो रहे लोगों में एक है जो निजी मोबाइल कम्पनियों द्वारा छले जा रहे हैं। 16 फरवरी को भारतीय जनसंचार संस्थान में छुट्टी होने के कारण मैने सुबह का अलार्म नहीं लगाया लेकिन मेरे रिलायंस के नम्बर 9555204147 पर 51234 से आए एक एस एम एस से मेरी नींद खोल दी। एस एम एस कुछ यूं था-YOUR SUBSCRIPTION TO CRBT SERVICE HAS BEEN RENEWED AT RS. 10  FOR A PERIOD OF 10 DAYS.TO UNSUBSCRIBE SMS UNSUB 1003 TO 155223(TOLL FREE). मैने फटाफट रूममेट से रिलायंस कस्टमर केयर का नम्बर लिया और 198 पर कॉल किया। एक महिला ने कॉल लिया भूमिका बांधने के बाद उन्होंने मेरी शिकायत सुनी और कहा कि सर आप ने कॉलर ट्यून एक्टिवेट करवाया है उसी का सर्विस चार्ज कटा है। मैने उनसे कहा कि मुझे याद नहीं आ रहा कि मैने कब यह एक्टिवेट करवाया था कृप्या कर के सेवा एक्टिवेट करने की तारीख बताएं। मैडम ने चिढ कर बुदबुदाया और कहा कि पढे लिखे लोग बहुत बनते हैं। जब मै जिद  करने लगा तो उन्होने बताया कि गत 2 फरवरी को कम्पनी की ओर से वायस कॉल गया था और मैने कोई बटन दबा दिया जिससे यह सर्विस  ऑटोमेटिक एक्टिवेट हो गई। उसके बाद बिना पूछे ही मेम ने ये भी बडे कान्फिडेन्स से बता दिया कि 2 फरवरी को मेरा 1 रूपया, 12 फरवरी को 5 रूप्या और आज 10 रूप्या काटा गया है। मेरे ये पूछने पर कि अगला डिडक्शन कब होगा मेम ने पोलाइटनेस के साथ कहा कि सर अगर आप चाहें तो कॉलर ट्यून  डिएक्टिव कर सकते हैं। कमाल है मैंने उनसे इसके बारे में पूछा भी नही था! मेरे दोबारा  डिडक्शन के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि सर अगले डिडक्शन की जानकारी आपको एस एम एस से दी जाएगी। मैने फिर पूछा कि कॉलर ट्यून का शुल्क 45 रूप्ये है इसे कम्पनी कैसे वसूलती है? उस महिला सर्ब टूट गया और  उन्होंने फटकते हुए कहा कि आपने जो जानकारी मांगी थी वो मैने दे दी रिलायंस में कॉल करने के लिए धन्यवाद! फोन कट गया.
मैने अगला कॉल कन्ज्यूमर हेल्पलाइन नम्बर 1800114000 पर किया। इन्दू नाम की महिला ने मेरा  कॉल लिया। मैने अपना शिकायत दर्ज कराया जिसका नम्बर 263522/11 है। वहां से मुझे रिलायंस के नॉडल अधिकारी अनुज बहुगुणा का मेल आई डी मिल गया। इसी बीच मैने निर्णय किया कि रिलायंस को कोर्ट में घसीटूंगा और मैने फिर से रिलायंस कस्टमर केयर को कॉल लगाया। प्रदीप नाम के किसी सहायक ने कॉल लिया। मैने इस बार उसे फिर से अपनी पूरी शिकायत सुनाई और अपने द्वारा दर्ज शिकायत संख्या जानना चाहा। प्रदीप ने बदले मे मुझे रिक्वेस्ट  नंबर नही  दिया। काफी आग्रह करने और अंत में कड़ा व्यवहार बदलने पर मुझे शिकायत सं. दी गई जो 147225889 है। मैने प्रदीप से नॉडल अधिकारी का मेल आई डी और कन्टेक्ट लिया। फोन काटने से पहले मै प्रदीप से 2 फरवरी को मेरे नम्बर पर आए सभी कॉल के डिटेल जानना चाहा लेकिन उन्होने यह कह कर टाल दिया कि टेक्निकल एक्सपर्ट नहीं हैं आप थोडी देर में फिर कॉल करें तो आपको डिटेल दी जाएगी। मै पूरे दिन कॉल लगाता रहा लेकिन फिर कॉल नहीं लगा। शाम 6 बजे मेरा कॉल लगा। इस बार किसी लखबीर ने कॉल लिया। जब मैने उन्हें अपनी शिकायत बताई तो और 2 फरवरी के कॉल डिटेल मांगे तो वो सीधा मुकर गए और उन्होंने कहा कि हमारे पास रिकार्ड नहीं रहता है। मैने उनसे कहा कि सुबह एक मेम और सर ने कहा है कि उनके पास रिकार्ड है और वो मुझे देंगे। लखबीर ने बात पलटते हुए तैश में कहा कि आपकी शिकायत ऑलरेडी दर्ज है 48 घंटे में आपको सूचित किया जाएगा। 
शाम आठ बजे RM-Reliance से एस एम एस आया जो यूं था Dear Reliance Customer As Per SR 147225889Rs10 is posted for wrong charging rest deduction is correct and CRBT services Unsubscribed. यानी चुराया हुआ पैसा अब मेरी मुट्ठी में था। 
अब  चौंकाने वाली कुछ बातें मै सार्वजनिक करता हूं। दरअसल मै आइडिया यूज करता हू और रिलायंस का नम्बर रात में ग्यारह बजे के बाद ही लगाता हूं और सूर्योदय से पहले वापस आइडिया लगा लेता हूं। अगर रिलायंस के द्वारा कही गयी इस बात पर विचार किया जाए तो साफ है कि दो तारीख की रात को कम्पनी लोगों को कॉल करती है जिससे कम्पनी इनकार कर चुकी है। चलिए मान लिया कि किसी कारणवश मै सवेरे सीम चेंज करना भूल गया। 2 फरवरी को बुधवार था और भारतीय जनसंचार संस्थान मे मै क्लास एटेंड कर रहा था। मै नोकिया 2600 क्लासिक यूज करता हूं जो तीन साल पुराना है और कॉलेज में रिलायंस का नेटवर्क नहीं पकडता है।
          अब अंतिम और प्रमाणिक सच। 2 फरवरी को श्रमजीवी एक्सप्रेस से एक विशेष मेहमान को लेने मै प्लेटफार्म पर गया था। मै ट्रेन आने के समय पर जंक्शन पर पहुंच गया था। यानि मै सवेरे आठ बजे दिल्ली जंक्शन पर था और ट्रेन का अपडेट उस मेहमान से लगातार ले रहा था। मेरा रिलायंस के नम्बर पर बाइलेंस दिसंबर से ही माइनस में था। इसकी पुष्टि खुद कम्पनी वालों ने की है। मेरे पास रिकार्डिंग मौजूद है जो समय आने पर मैं न्यायालय में पेश करूंगा। बरेली में हुई दुर्घटना के कारण ट्रेन काफी देर से आई और उस मेहमान,जो श्रमजीवी एक्सप्रेस के एसी 3 टायर के सीट सं 35 पर थे,के साथ मैं पूरे दिन था दस दरम्यान रिलायंस का सीम मेरे पर्स में सुरक्षित था। स्पष्ट है कि कम्पनी ने मेरे मोबाइल से मेरा पैसा चोरी किया है और मेरे हल्ला बोलने पर वापस किया है। मै भारत के सभी नागरिकों से अपील करता हूं कि वह रिलायंस की सेवा का बहिष्कार कर के रिलायंस के खिलाफ हल्ला  बोलें ताकि ये चोर कम्पनी किसी और को अपना शिकार नहीं बना सके।







5 comments:

  1. हमहू खांटी गंवार है ढोल पीट के बदनाम करेंगे ससुरा को...अबरी हमको छेड़ कर बड़का गलती कर दिया है ऊ अम्बानी का बचवा...

    ReplyDelete
  2. Non-reliable Reliance
    इसमें कोई शक नहीं भाई कि रिलायंस पे भरोसा करना बेमाने है.. उसकी ना तो सर्विसेस अच्छी हैं ना ही स्टाफ.. उसके पंटरों को बात तक करने की तमीज नहीं होती.. और तो और.. खुद ही पता नहीं कौन कौन सी स्कीमों के sms भेजते हैं और जानकारी लेने के लिए फोन करो तो उन गधों को अपनी ही स्कीम्स के बारे में जानकारी नहीं होती.. उलटा उनमें से कई तो आपसे पूछते हैं.. क्या ऐसी कोई स्कीम है.. माफी चाहूंगा सर इस बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है.. इस बारे में मैं आपकी कोई मदद नहीं कर पाउँगा सर.. वगैराह तो जैसे उनके तकिया-कलाम हैं .
    आपसे बिना पूछे आपके नंबर पे कोई भी पैकेज एक्टिवेट कर देंगे और बाद में बोलेंगे सर आपने गलती से कोई बटन दबा दिया होगा.. हम तो जैसे अनगढ़ गंवार.. हमने कभी मोबाइल देखा ही नहीं.. अचानक इनकी मेहरबानी से एक दिन फोन मिला तो लगे दबाने एक के बाद एक नंबर.. अपने जैसा हूतिया समझते हैं.. ये मैं सिर्फ अपने तजुर्बे से बात नहीं कर रहा हूँ.. बल्कि मेरे कई दोस्तों के तजुर्बे शामिल हैं इसमें जिनमें किसी ने सिम तोड़ कर फेक दी.. किसी ने कुछ किसी ने कुछ.. मगर कम से कम आज तक २०० लोगों को मैंने खुद रिलायंस use नहीं करने की सलाह दी है.. और ये भी बता दूं कि कईयों ने खुद तजुर्बा लेने के लिए रिलायंस use भी किया तो वो पछताए ज़रूर हैं..
    Keep away from Non-reliable Reliance if want peace in life.. इनका कोई ईमान नहीं है.. बस दौड़ रहे हैं.. बाप का बनाया नाम खा रहे हैं और कुछ नहीं...

    ReplyDelete
  3. Manytimes a vast penalty imposed on Reliance due to misconduct by TRAI. People should quit Reliance at once if they want to feel cool & secure.

    ReplyDelete